हृदय दर

[ad_1]

हृदय दर

“हृदय की दर” का शाब्दिक अर्थ होता है “दिल की धडकन” या “दिल की बीट”. यह एक महत्वपूर्ण शारीरिक प्रक्रिया है जिसके माध्यम से रक्त शरीर में पम्प होता है ताकि शरीर के अंगों और ऊतकों तक आवश्यक ऑक्सीजन और पोषण पहुँच सके।

हृदय एक प्रमुख मांसपेशी अंग होता है जो आपकी छाती में स्थित होता है, और यह आपके रक्त प्रवाह को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होता है। हृदय की दर यानी दिल की धडकन का मतलब होता है कि कितनी बार दिल एक मिनट में धड़कता है।

हृदय की दर कई प्रमुख कारकों पर निर्भर करती है, जिनमें सबसे महत्वपूर्ण है:

  1. उम्र: वय बढ़ने के साथ, हृदय की दर में थोड़ी वृद्धि हो सकती है।
  2. शारीरिक स्थिति: यदि आपका शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा है, तो आमतौर पर हृदय की दर कम होती है।
  3. व्यायाम: नियमित व्यायाम करने से हृदय की दर सामान्य रहती है और रक्त प्रवाह में सुधार होता है।
  4. आहार: स्वस्थ आहार लेने से भी हृदय की दर पर प्रभाव पड़ता है।
  5. अवस्था: आपकी मानसिक और भावनात्मक अवस्था भी हृदय की दर को प्रभावित कर सकती है।
  6. आदर्श रक्तचाप: आदर्श रक्तचाप के करीब होने से भी हृदय की दर पर असर पड़ता है।

सामान्यत: एक स्वस्थ व्यक्ति की हृदय की दर प्रतिमिनट 60 से 100 धड़कनों के बीच होती है, जिसे ‘पल्स’ भी कहा जाता है। जब हम व्यायाम करते हैं या किसी प्रकार की शारीरिक गतिविधियाँ करते हैं, तो हृदय की दर बढ़ सकती है, क्योंकि इससे ज्यादा ऑक्सीजन और पोषण की आवश्यकता होती है।

यदि हृदय की दर असामान्य हो, तो यह स्वास्थ्य संकेत हो सकता है और आपको एक चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए।

विश्राम के समय हृदय की दर

विश्राम के समय हृदय की दर (Resting Heart Rate) यह होती है जब आप बिलकुल विश्राम में होते हैं, अर्थात् आप न सिर्फ बिस्तर पर होते हैं बल्कि भारी शारीरिक गतिविधियाँ भी नहीं कर रहे होते। यह दर आपके स्वास्थ्य की निगरानी करने का एक महत्वपूर्ण पैरामीटर हो सकता है।

विश्राम के समय हृदय की दर को मापने से आपको अपने हृदय स्वास्थ्य की जानकारी मिल सकती है, और यदि हृदय की दर में असामान्यता हो, तो यह हृदय संबंधित समस्याओं की संदर्भ स्थिति की संभावना बता सकती है।

हृदय दर (Heart Rate) को मापने के लिए विभिन्न शरीर के स्थानों का उपयोग किया जा सकता है। निम्नलिखित हैं कुछ मुख्य स्थान जहाँ आप हृदय दर को माप सकते हैं:

  1. डायना नाडी (Radial Pulse): डायना नाडी हाथ के कलाई स्थित उंगली की तरफ होती है। आप इसे अपने बाजू के वांछे पर महसूस कर सकते हैं। इसे मापने के लिए आपको एक उंगली का प्रयोग करके हाथ के कलाई की ओर मुड़ना होता है।
  2. कारोटिड नाडी (Carotid Pulse): कारोटिड नाडी गले की तरफ स्थित होती है और यह आपके गर्दन की दीवार के साथ महसूस होती है। इसे मापने के लिए आपको दाहिने या बाएं कान के पास गले की ओर उंगली का प्रयोग करना होता है।
  3. ब्रचियलिस नाडी (Brachial Pulse): ब्रचियलिस नाडी बाजू के बाजूलामा स्थित होती है और यह आपके उपवांछे के पास महसूस होती है। यह नाडी बच्चों के हृदय दर की मापन के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण होती है।
  4. पैडल पल्स (Pedal Pulse): पैडल पल्स पैर के मूँह में स्थित होती है, और आप इसे पैर की पंजे के निचले हिस्से पर महसूस कर सकते हैं।
  5. फेमोरल पल्स (Femoral Pulse): फेमोरल पल्स जांघ के बीच में स्थित होती है, और यह आपके जांघ की आंतरिक साइड पर महसूस होती है।
  6. आर्टरियल नाडियाँ (Arterial Pulse): कुछ अन्य स्थानों पर भी आप आर्टरियल नाडियों की मापन कर सकते हैं, जैसे कि ब्रचियल आर्टरी, अन्तरजातीय आर्टरी, आदि।

हृदय दर की सामान्य रेंज

हृदय दर की सामान्य रेंज व्यक्ति की आयु और शारीरिक स्थिति पर निर्भर करती है, लेकिन आमतौर पर यह निम्नलिखित मानों के बीच होती है:

  • नवजवान वयस्क (उम्र 18-25): 60-100 धड़कनें प्रति मिनट
  • मध्यवयस्क (उम्र 26-45): 60-100 धड़कनें प्रति मिनट
  • वयस्क (उम्र 46-65): 60-100 धड़कनें प्रति मिनट
  • वरिष्ठ वयस्क (उम्र 65 और उससे अधिक): 60-100 धड़कनें प्रति मिनट

हृदय की दर के विकार:

  1. तेज हृदय दर (Tachycardia): यदि हृदय की दर विश्राम के समय 100 धड़कनों से अधिक हो, तो इसे तेज हृदय दर कहा जाता है। यह अनेक प्रमुख कारकों के कारण हो सकता है, जैसे कि स्ट्रेस, थायराइड समस्याएँ, रक्तचाप की समस्या आदि।
  2. मंद हृदय दर (Bradycardia): यदि हृदय की दर विश्राम के समय 60 धड़कनों से कम हो, तो इसे मंद हृदय दर कहा जाता है। इसकी वजह से हृदय के नियमित रक्त प्रवाह में समस्या हो सकती है और यह विभिन्न गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का भी संकेत हो सकता है।
  3. असमान हृदय दर (Arrhythmia): इसमें हृदय की दर अनियमित होती है, जिसके कारण यह बीट नियमित रूप से नहीं होता है।

हृदय की दर मापने के लिए आपको आपके नजदीकी चिकित्सक या अस्पताल में जा कर एक प्रोफेशनल की मादक ब्रिज उपयोग करनी चाहिए। 

[ad_2]

Leave a Comment