Aye mere watan ke logo Lyrics hindi english

Aye mere watan ke logo Lyrics hindi english

ऐ मेरे वतन के लोगो गीत सुनकर जब प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू रो पड़े

Aye Mere watan ke logo lyrics तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की उपस्थिति में दिल्ली के रामलीला मैदान में लता मंगेशकर द्वारा गाया इतना भावुक गीत है कि ऐ मेरे वतन के लोगो गीत के लिरिक्स सुनकर पंडित जवाहर लाल नेहरू की आंखों में आसूं भर आए थे।

Lata Mangeshkar- Aye Mere watan ke logon song lyrics in hindi 

Aye mere watan ke logo lyrics लता मंगेशकर ने गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1963 को नई दिल्ली के रामलीला मैदान में प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू की उपस्थिति में “ऐ मेरे वतन के लोगो” गाया था। तत्कालीन परिस्थिति भारत-चीन युद्ध की समाप्ति के ठीक दो महीने बाद लता जी ने गाया ऐ मेरे वतन के लोगो जरा आंख में भर लो पानी। 

गाने के बोल (song lyrics) न केवल कवि प्रदीप की भावनाओं को बल्कि देश के प्रति उनकी राष्ट्रवादी सोच को दर्शाते हैं।  

गायिका लता मंगेशकर और संगीतकार सी रामचंद्र के साथ उन्होंने नेहरू सहित सभी की आंखों में आंसू ला दिए।  उम्मीद है आपको ये aye mere watan ke logo lyrics पढ़कर आप गुमान अनुभव करेंगे अपनी सेना पर अपने वीर सिपाहियों पर। 

  • गीत:- ऐ मेरे वतन के लोगो
  • गायक:- लता मंगेशकर
  • गीतकार:- कवि प्रदीप
  • संगीतकार:- सी. रामचंद्र

ऐ मेरे वतन के लोगो लिरिक्स लता दीदी

ऐ मेरे वतन के लोगों! तुम खूब लगा लो नारा 

ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा 

पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए 

कुछ याद उन्हें भी कर लो.. 

कुछ याद उन्हें भी कर लो.. 

जो लौट के घर न आए 

जो लौट के घर न आए 

ऐ मेरे वतन के लोगों 

ज़रा आँख में भर लो पानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी 

ज़रा याद करो क़ुरबानी 

ऐ मेरे वतन के लोगों 

ज़रा आँख में भर लो पानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी 

ज़रा याद करो क़ुरबानी

जब घायल हुआ हिमालय खतरे में पड़ी आज़ादी 

जब तक थी साँस लड़े वो 

जब तक थी साँस लड़े वो फिर अपनी लाश बिछा दी 

संगीन पे धर कर माथा सो गये अमर बलिदानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी 

ज़रा याद करो क़ुरबानी 

जब देश में थी दीवाली वो खेल रहे थे होली 

जब हम बैठे थे घरों में 

जब हम बैठे थे घरों में वो झेल रहे थे गोली 

थे धन्य जवान वो अपने थी धन्य वो उनकी जवानी

जो शहीद हुए हैं उनकी ज़रा याद करो क़ुरबानी 

कोई सिख कोई जाट मराठा 

कोई सिख कोई जाट मराठा 

कोई गुरखा कोई मदरासी 

कोई गुरखा कोई मदरासी सरहद पर मरनेवाला.. 

सरहद पर मरनेवाला हर वीर था भारतवासी 

जो खून गिरा पर्वत पर वो खून था हिंदुस्तानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी ज़रा याद करो क़ुरबानी 

थी खून से लथ-पथ काया 

फिर भी बन्दूक उठाकर

दस-दस को एक ने मारा 

फिर गिर गये होश गँवाकर

जब अन्त-समय आया तो कह गए के अब मरते हैं 

जब अन्त-समय आया तो कह गए के अब मरते हैं 

खुश रहना देश के प्यारों.. 

खुश रहना देश के प्यारों अब हम तो सफ़र करते हैं 

अब हम तो सफ़र करते हैं 

क्या लोग थे वो दीवाने 

क्या लोग थे वो अभिमानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी 

ज़रा याद करो क़ुरबानी 

तुम भूल न जाओ उनको इस लिये कही ये कहानी 

जो शहीद हुए हैं उनकी ज़रा याद करो क़ुरबानी 

जय हिन्द जय हिन्द जय हिन्द की सेना जय हिन्द जय हिन्द जय हिन्द की सेना जय हिन्द जय हिन्द जय हिन्द….

Ae mere watan ke logo Lyrics in english by Lata Mangeshkar

ae mere vatan ke logon! tum khoob laga lo naara 

ye shubh din hai ham sab ka lahara lo tiranga pyaara 

par mat bhoolo seema par veeron ne hai praan ganvae 

kuchh yaad unhen bhee kar lo.. 

kuchh yaad unhen bhee kar lo.. 

jo laut ke ghar na aae 

jo laut ke ghar na aae 

ae mere vatan ke logon 

zara aankh mein bhar lo paanee 

jo shaheed hue hain unakee 

zara yaad karo qurabaanee 

ae mere vatan ke logon 

zara aankh mein bhar lo paanee 

jo shaheed hue hain unakee 

zara yaad karo qurabaanee

jab ghaayal hua himaalay khatare mein padee aazaadee 

jab tak thee saans lade vo 

jab tak thee saans lade vo phir apanee laash bichha dee 

sangeen pe dhar kar maatha so gaye amar balidaanee 

jo shaheed hue hain unakee 

zara yaad karo qurabaanee 

jab desh mein thee deevaalee vo khel rahe the holee 

jab ham baithe the gharon mein 

jab ham baithe the gharon mein vo jhel rahe the golee 

the dhany javaan vo apane thee dhany vo unakee javaanee

jo shaheed hue hain unakee zara yaad karo qurabaanee 

koee sikh koee jaat maraatha 

koee sikh koee jaat maraatha 

koee gurakha koee madaraasee 

koee gurakha koee madaraasee sarahad par maranevaala.. 

sarahad par maranevaala har veer tha bhaaratavaasee 

jo khoon gira parvat par vo khoon tha hindustaanee 

jo shaheed hue hain unakee zara yaad karo qurabaanee 

thee khoon se lath-path kaaya 

phir bhee bandook uthaakar

das-das ko ek ne maara 

phir gir gaye hosh ganvaakar

jab ant-samay aaya to kah gae ke ab marate hain 

jab ant-samay aaya to kah gae ke ab marate hain 

khush rahana desh ke pyaaron.. 

khush rahana desh ke pyaaron ab ham to safar karate hain 

ab ham to safar karate hain 

kya log the vo deevaane 

kya log the vo abhimaanee 

jo shaheed hue hain unakee 

zara yaad karo qurabaanee 

tum bhool na jao unako is liye kahee ye kahaanee 

jo shaheed hue hain unakee zara yaad karo qurabaanee 

jay hind jay hind jay hind kee sena jay hind jay hind jay hind kee sena jay hind jay hind jay hind


Leave a Reply