Best Lyrics of Kishore Kumar Songs in Hindi

Best Lyrics of Kishore Kumar Songs in Hindi

Best lyrics of kishor kumar songs in hindi आके सीधी लगी दिल पे कटरिया लिरिक्स 1964 में प्रदर्शित कॉमिक हिंदी फिल्म हाफ टिकट से है। हिंदी कॉमेडी मूवी हाफ टिकट में अभिनेता के रूप में भी किशोर दा ही हैं। Old song lyrics और पूर्व गायकों की आवाज संगीतकारों का संगीत जब इनका मिश्रण आपके कानों में पड़ता है तो आपको यह कितना कर्णप्रिय लगता है इसका अनुभव तो आप ही बता सकते हैं।

Best Kishore Kumar lyrics of song Aake Sidhi lagi Dil pe 

  • गीत:- आके सीधी लगी दिल पे 
  • फिल्म:- हाफ टिकट (१९६४)
  • गायक:- किशोर कुमार
  • गीतकार:- शैलेंद्र 
  • संगीतकार:- सलिल चौधरी 

Best Kishore Kumar lyrics में प्रस्तुत आके सीधी लगी दिल पे कटरिया लिरिक्स की खास बात एक यह भी है कि इसमें किशोर दा और प्राण साहब परदे पर हैं और उन्हीं पर फिल्माया गया है। जिसमे किशोर दा लड़की के भेष में लड़की की आवाज में गा रहे हैं और प्राण मेल की आवाज में, चौंकाने वाली बात यह है कि दोनो आवाजें लड़की और लड़का की किशोर कुमार की ही हैं। आप क्या समझे, किशोर कुमार लीजेंड ऐसे ही थोड़े ना हैं।

Aake Sidhi lagi Dil pe Lyrics of Kishore Kumar Songs in Hindi

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया होये

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया ओ होये तेरी तिरछी नजरिया

ले गई मेरा दिल तेरी जुल्मी नजरिया ओ गुजरिया ओये

ले गई मेरा दिल तेरी जुल्मी नजरिया ओ गुजरिया ओये ओये

ओ जाने सारी नगरिया

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया

मेरी गली आते हो क्यों बार बार

छेड़ छेड़ जाते हो क्यों दिल के तार

हो सैंया… हो सैंया..

हो सैंया पडूँ तोरे पैंया

मेरी गली आते हो क्यूं बार बार

छेड़ छेड़ जाते हो क्यों दिल के तार 

क्या मैं करूँ गोरी मुझे तुझसे है प्यार

जो न तुझे देखूँ न आए करार

ओ गोरी ओ गोरी ओ गोरी बढ़के बुदन तिरवी टकर

क्या मैं करूँ गोरी मुझे तुझसे है प्यार

जो न तुझे देखूँ न आए करार

हटो जाओ, न बनाओ, हटो जाओ हय हय न बनाओ हय हय नटखट रंगीले साँवरिया

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया हय हय

ले गई मेरा दिल तेरी तिरछी नजरिया ओ गुजरिया

पीछे पीछे आते हो क्यों दिल के चोर

मान जाओ वर्ना मचा दूँगी शोर

बचाओ, ओ मुए, ओ मुर्गे, ओ कौवे

पीछे पीछे आते हो क्यों दिल के चोर

मान जाओ वर्ना मचा दूँगी शोर

पहले तो बाँधी निगाहों की डोर

अब हमसे कहती हो चल पीछा छोड़

ओ गोरी ओ नटखट ओ खटपट ओ पनघट ओ झटपट

पहले तो बाँधी निगाहों की डोर

अब हमसे कहती हो चल पीछा छोड़

तोरे नैना मीठे बैना तोरे नैना हाय हाय मीठे बैना होये होये मुझको बना गए बावरिया

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया हय हय तेरी तिरछी नजरिया

ले गई मेरा दिल तेरी जुल्मी नजरिया ओ गुजरिया ओये ओये

ओ जाने सारी नगरिया

आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया

ओ सँवरिया ओ गुजरिया ओ सँवरिया ओ गुजरिया ओ सँवरिया


Leave a Comment