Srinivas Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Lyrics In Hindi English || कैसी है यह रुत के जिस में फूल बन के दिल खिले ||

Srinivas Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Lyrics In Hindi English || कैसी है यह रुत के जिस में फूल बन के दिल खिले ||

Srinivas Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Lyrics In Hindi English

Summary Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme ये Song Dil Chahta Hai Movie से है। इस गाने में Akshay Khanna और Dimple Kapadia मुख्य भूमिका में थे। इस गाने को Srinivas ने गाया और Music Shanker, Ehsaan, Loy ने दिया है। इस गाने के बोल Javed Akhtar ने लिखे है।

About : Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Song

  • Song Title : Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme
  • Movie : Dil Chahta Hai (2001)
  • Singer : Srinivas
  • Music : Shanker, Ehsaan, Loy
  • Lyrics : Javed Akhtar
  • Starcast : Akshay Khanna, Dimple Kapadia
  • Music Label – T-Series

Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme ( Official Video)

Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Lyrics In Hindi

कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले
घुल रहे हैं रंग सारे
घुल रहे है खुश्बुवे
कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले
घुल रहे हैं रंग सारे
घुल रहे है खुश्बुवे
चाँदनी झर्ने घटायें
गीत बारिश तितलियाँ
हम पे हो गए है सब महेरबान
कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले

देखो नदी के किनारे
पंछी पुकारे किसी पंछी को
देहको यह जो नदी है मिलने चली है
सागर ही को
यह प्यार का ही सारा है कारवां
कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले

कैसे किसी को बताएं
कैसे यह समझाएं क्या प्यार है
इस में बंधन नहीं है
और न कोई भी दीवार है
सुनो प्यार की निराली है दास्ताँ
कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले
घुल रहे हैं रंग सारे
घुल रहे है खुश्बुवे
चाँदनी झर्ने घटायें
गीत बारिश तितलियाँ
हम पे हो गए है सब महेरबान
कैसी है यह रुत के जिस में
फूल बन के दिल खिले.

Kaisi Hai Yeh Rut Ki Jisme Lyrics In English

Kaisi hai yeh rut Ki Jisme
Phool ban ke dil khile
Ghul rahen hai rang sare
Ghul rahe hai khushbuve
Kaisi hai yeh rut ke jis mein
Phool ban ke dil khile
Ghul rahen hai rang sare
Ghul rahe hai khushbuve
Chandni jharne ghatayen
Geet baarish titliyaan
Hum pe ho gaye hai sab maherbaan
Kaisi hai yeh rut Ki Jisme
Phool ban ke dil khile

Dekho nadi ke kinare
Panchi pukare kisi panchi ko
Dehko yeh jo nadi hai milne chali hai
Sagar hi ko
Yeh pyaar ka hi sara hai caravan
Kaisi hai yeh rut ke jis mein
Phool ban ke dil khile

Kaise kisi ko batayen
Kaise yeh samjaayen kya pyaar hai
Is mein bandhan nahin hai
Aur na koyi bhi deewaar hai
Suno pyaar ki nirali hai daastaan
Kaisi hai yeh rut ke jis mein
Phool ban ke dil khile
Ghul rahen hai rang sare
Ghul rahe hai khushbuve
Chandni jharne ghatayen
Geet baarish titliyaan
Hum pe ho gaye hai sab maherbaan
Kaisi hai yeh rut Ki Jisme
Phool ban ke dil khile.


Leave a Reply