Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics From Zimbo [English Translation]

Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics From Zimbo [English Translation]

Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics: This song “Ye Raat Hai Mahtabi” is sung by Asha Bhosle from the Bollywood movie ‘Zimbo’. The song lyrics were written by Majrooh Sultanpuri while the music is composed by Chitragupta Shrivastava. This film is directed by Homi Wadia. It was released in 1958 on behalf of Saregama.

The Music Video Features Azad Chitra, B M Vyas, Krishan Kumari, Sheikh, Dalpat, Pedro, Habib, and Chitra.

Artist: Asha Bhosle

Lyrics: Majrooh Sultanpuri

Composed: Chitragupta Shrivastava

Movie/Album: Zimbo

Length: 5:20

Released: 1958

Label: Saregama

Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics

ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना

ललल ललल ललल ललल

देखो तो बहे यह नज़र नज़र खिलने का
चाँदनी ढलती है यह वक़्त है मिलने का
देखो तो बहे यह नज़र नज़र खिलने का
चाँदनी ढलती है यह वक़्त है मिलने का
नज़र मिले झलक पड़े नज़र का पैमाना
ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना

ओह होऊ होहू
आहहहाआआ

प्यार से ाओ भी उसी तरह लाहा रा के
दिल की है दिल में किधर चले घबरा के
प्यार से ाओ भी उसी तरह लाहा रा के
दिल की है दिल में किधर चले घबरा के
जुड़ा है क्यों खफा है क्यों समां से परवाना
ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना

होठों पे खिलती यह रुकी रुकी सी बाते
आती कहां से है यह मोहब्बतों की रातें

होठों पे खिलती यह रुकी रुकी सी बाते
आती कहां से है यह मोहब्बतों की रातें
ज़ुबा से जो न कह सको वो मुझसे समझा
ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना

ये रात है महताबी समां है दीवाना
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना.

Screenshot of Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics

Ye Raat Hai Mahtabi Lyrics English Translation

ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
ललल ललल ललल ललल
Lal Lal Lal Lal
देखो तो बहे यह नज़र नज़र खिलने का
If you see, this glance of blossoming
चाँदनी ढलती है यह वक़्त है मिलने का
Moonlight sets, it’s time to meet
देखो तो बहे यह नज़र नज़र खिलने का
If you see, this glance of blossoming
चाँदनी ढलती है यह वक़्त है मिलने का
Moonlight sets, it’s time to meet
नज़र मिले झलक पड़े नज़र का पैमाना
scale of vision
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
ओह होऊ होहू
oh ho ho ho
आहहहाआआ
ahhhhaaa
प्यार से ाओ भी उसी तरह लाहा रा के
come with love in the same way laha ra ke
दिल की है दिल में किधर चले घबरा के
The heart is in the heart, where are you going to go in fear
प्यार से ाओ भी उसी तरह लाहा रा के
come with love in the same way laha ra ke
दिल की है दिल में किधर चले घबरा के
The heart is in the heart, where are you going to go in fear
जुड़ा है क्यों खफा है क्यों समां से परवाना
Why is it connected, why is it upset, why is it related
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
होठों पे खिलती यह रुकी रुकी सी बाते
This slow talk blossoms on the lips
आती कहां से है यह मोहब्बतों की रातें
Where do these nights of love come from
होठों पे खिलती यह रुकी रुकी सी बाते
This slow talk blossoms on the lips
आती कहां से है यह मोहब्बतों की रातें
Where do these nights of love come from
ज़ुबा से जो न कह सको वो मुझसे समझा
What you can’t say with your tongue, he understood from me
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना
Raise your eyes a little
ये रात है महताबी समां है दीवाना
Yeh raat hai mahtabi saman hai deewana
उठा ज़रा झुका ज़रा निगाहे मस्ताना.
Raise your eyes a little, bow down a little.

https://www.youtube.com/watch?v=TyhPvSk7AaM


Leave a Comment